Kirtan Lyrics of Radha Kund

जय जय नित्यानंद, जय जय गौरांगो
जय जय नित्यानंद नित्यानंद गौरांगो

जय जय यशोदानंदन शची सुत गौरचंद्र ||
जय जय रोहिणी नंदन बलराम नित्यानंद ||
जय जय महाविष्णु अवतार-श्री अद्वैत चन्द्र ||
जय जय गदाधर श्री वासादि गौर भक्त वृन्द ||
जय जय स्वरुप रूप सनातन राय रामानंद ||
जय जय खंडवासी नरहरी मुरारी मुकुंद ||
जय जय पञ्च पुत्र संगे नाचे राय भवानंद ||
जय जय तीन पुत्र संगे नाचे सेन शिवानन्द ||
जय जय द्वादश गोपाल आदि चौषटि(६४) महंत ||
जय जय छय चक्रबर्ती अशटे कविराज चन्द्र ||
जय जय उड़िया गौड़ीय वासी गौर भक्त वृंद ||
जय जय हयेचैन हबेन जत प्रभुर अन्तरंग ||
तोमारा शौबे मिले कोरो दया आमी अति मंद|
जैनों आकुल प्राणे गईते पारी हां निताई गौरंगो|

जय जय नित्यानंद गौरंगो

जय श्री कृष्ण चैतन्य प्रभु नित्यानंद|
श्री अद्वैत गदाधर श्री वासादि गौरभक्त वृन्द ||
हरे कृष्णा हरे कृष्णा कृष्णा कृष्णा हरे हरे |
हरे राम हरे राम राम राम हरे हरे ||

 

जय जय राधे कृष्णा गोविंदा
जय जय राधे कृष्णा राधे कृष्णा गोविंदा

जय जय श्याम सुन्दर मदन मोहन वृन्दावनचन्द्र ||
जय जय राधा रमण रासबिहारी श्रीगोकुलानंद ||
जय जय राधाकान्त राधाविनोद श्री राधागोविंद ||
जय जय रासेश्वरी विनोदिनी भानुकुल चन्द्र ||
जय जय ललिता विशाखा आदि जत सखीवृन्द ||
जय जय श्री रूप मंजरी आदि मंजरी अनंग ||
जय जय पौर्णमासी कुन्द्लता जय वीरावृन्द ||
तोमारा शौबे मिले कोरो दया आमी अति मंद|
कृपा कौरी दाओ हे जुगल चर्नारवृन्द|
जय जय राधे कृष्णा गोविंदा
जय जय राधे कृष्णा राधे कृष्णा गोविंदा
जय श्री कृष्ण चैतन्य प्रभु नित्यानंद
हरे कृष्णा हरे राम श्री राधे गोविंद

हरे कृष्णा हरे कृष्णा कृष्णा कृष्णा हरे हरे |
हरे राम हरे राम राम राम हरे हरे ||

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *