Bhajan & Sadhna Related Questions

Q1. I feel distance from god. what to do?

भगवान् से दूरी लगने लगी है. क्या करूँ?

Q2. Why did god separated ‘jeev’ from himself?

भगवान् ने जीव को अलग क्यों किया खुद से?

Q3. Kindly explain god Kapil’s ‘aatma paramatma’ related preaching.

भगवान् कपिल की आत्मा परमात्मा सम्बन्धी शिक्षा को समझायें|

Q4. How to obtain God’s love as fast as possible?

भगवान का प्रेम जल्द से जल्द कैसे प्राप्त करूँ?

Q5. serving ‘archavigreh’.

अर्चाविग्रह की सेवा.

Q6. I have faith in god , but how to raise blind faith ?

भगवान् पे विश्वास है, पर अंध विश्वास कैसे बढे?

Q7. What is ‘sewa’? How to serve invisible god?

सेवा क्या है? अनदेखे भगवान् की सेवा कैसे करें?

Q8.  How did Ajamil attained God, when he hailed his son’s name?

अजामिल को बेटे का नाम पुकारने पर भगवान् की प्राप्ति क्यों हुई?

Q9.  What is ‘aishwariya mukt bhakti’?

ऐश्वर्या मुक्त भक्ति क्या है?

Q10. How does our soul endure?

आत्मा कैसे भोगती है?

Q11. How are 84lakhs ‘yoniyaan’ classified?

८४लाख योनियों का वर्गीकरण क्या है?

Q12. Does fasting helps in raising our bhakti or non fasting can also help?

क्या उपवास रख कर भक्ति बढती है या बिना उसके भी बढ़ सकती है?

Q13. Is doing bhakti according to the vaastu correct?

वास्तु के हिसाब से पूजा और भक्ति करना सही है?

Q14. I feel sad when I am given a title. Why is it so?

उपाधियों से दुःख होने लगा है आजकल. ऐसा क्यों?

Q15. How can a person’s age increase?

किसी व्यक्ति की उम्र कैसे बढ़ सकती है?

Q16. What do we get by doing bhakti?

भगवान् की भक्ति से आखिर क्या मिलता है?

Q17. What is ‘tatva bhakti’ ? How is it being done?

तत्व भक्ति क्या है और कैसे करी जाती है?

Q18. Are the heaven and hell both on earth?

क्या स्वर्ग नरक सब यहीं है? इस धरती पे?

Q19. How to recognize ‘ shuddh bhakti’?

शुद्ध भक्त की क्या पहचान है?

Q20. From whom and how to listen?

श्रवण कैसे और किससे करें?

Q21. What is the difference between ‘shraddha’ and ‘bhakti’?

श्रद्धा और भक्ति में क्या अंतर है?

Q22. Is Lord Shiv , God aur ‘devta’?

शिवजी भगवान् हैं या देवता?

Q23. What are the types of body?

शारीर कितने प्रकार के होते हैं?

Q24. Whom do we call sewa?

सेवा किसे कहते हैं?

Q25. How do we stop our minds to go towards ‘sansaar’?

मन को संसार में जाने से कैसे रोकें?

Q26. Who is a true devotee?

सच्चा भक्त कौन होता है?

Q27. By doing Radha Rani’s bhakti, can we obtain God?

राधा रानी की भक्ति करने से क्या भगवान् की प्राप्ति होजाएगी?

Q28. How correct is rebirth’s priciple?

पुनर्जन्म का सिद्धांत कितना सही है?

Q29. Can bhakti be done by publicising it?

क्या प्रचार करने से भक्ति होती है?

Q30. What are the types of ‘Prabhu’s sharanaagati”?

प्रभु की शरणागति कितने प्रकार की होती है?

Q31. What are the importance of ‘Pooja Paath and Hawan’ ?

पूजा ,पाठ और हवन का क्या महत्व है?

Q32. How do we experiance attainment of ‘Paramaaanad’?

परमानन्द की प्राप्ति का अनुभव कैसे होता है?

Q33.What is the difference between ‘Nirgun’ and ‘Sagun’ bhakti?

निर्गुण और सगुन भक्ति में क्या अंतर है?

Q34. For Blind People.

नेत्रहीनो के लिए.

Q35. How to convert someone from atheist to theist?

नास्तिक को आस्तिक कैसे बनाया जाए?

Q36. Should Chanting Beads be taken from a devout or it can be taken by ourselves?

नाम जाप की माला किसी श्रद्धावान व्यक्ति से लेनी चाहिए या खुद भी ले सकते हैं?

Q37. Which is better? Chanting in mind or chanting from mouth?

मन में जाप करना बेहतर है या बोल बोल के?

Q38. Is is okay to take out time for bhakti after serving parents?

माँ बाप की सेवा के बाद , भक्ति के लिए समय निकलना उचित रहेगा?

Q39. Can devotees see god?

क्या भक्तों को भगवान् दिखाई देते हैं?

Q40. Mind wanders from bhakti. What to do?

मन भटक जाता है भक्ति से. क्या करें?

Q41. Which one God to pray?

किस एक भगवान् की पूजा करें?

Q42. What should be the emotions while serving god?

सेवा किस भाव से करनी चाहिए?

Q43. Explain the meaning of – Karm, Akarm, Vikarm.

कर्म, कर्म, विकर्म का मतलब समझायें.

Q44. When does ‘saadhan bhakti’ converts to ‘prem’ ?

साधन भक्ति , भाव प्रेम में कब बदलती है?

Q45. Mind wanders while japa. What to do?

जाप में मन नहीं लगता. क्या करें?

Q46.Out of Jaap and Dhyaan , Which one is better?

जाप और ध्यान में से क्या बेहतर है?

Q47.What should one think while doing Jaap?

जाप करते वक़्त क्या सोचना चाहिए?

Q48. Can ‘harinaam’ be considered as ‘sewa’?

क्या हरिनाम को ही सेवा मन जा सकता है?

Q49. Guru Sewa.

गुरु सेवा.

Q50. Explain the meaning of Geeta’s Shlok.

गीता के श्लोक का अर्थ समझाएं?

Q51. What should be the behaviour of a true devotee?

एक सच्चे संत का जीवन चरित्र कैसा होना चाहिए?

Q52. what is the difference between ‘daya’ and ‘kripa’?

दया और कृपा में क्या अंतर है?

Q53. How to do ‘chintan’ of god?

चिंतन कैसे करा जाए भगवान् का?

Q54. Different emotions are procured. Are they okay?

अलग अलग भावों की उत्पत्ति  होने लगी है. क्या ये सही है?

Q55. Bhakti Charcha.

भक्ति चर्चा.

Q56. What should be done to connect t bhakti?

भक्ति से जुड़ने के लिए क्या करना चाहिए?

Q57. Whwn does ‘ras’ starts coming in bhakti?

भक्ति में रस कब आता है?

Q58. What things should be kept confidential in bhakti?

भक्ति में कौनसी बातें गुप्त रखें?

Q59. How to save ourselves from pride in bhakti?

भक्ति में अभिमान से कैसे बचें?

Q60. How to increase our concentration in bhakti?

भक्ति में एकाग्रता कैसे बनाएं रखें?

Q61. How to step up in bhakti?

भक्ति में आगे कैसे बढें?

Q62. Why do we get punishments even after coming in bhakti?

भक्ति में आने के बाद भी सजा क्यों मिलती है?

Q63. Can we get liberation from sins after coming in  bhakti?

भक्ति में आने से पापों से मुक्ति से मुक्ति मिल जायेगी?

Q64. How to raise our bhakti?

भक्ति आगे कैसे बाधाएं?

Q65. Is bhakti a symbol of increase in age?

क्या भक्ति, बढती उम्र का प्रतीक है?

Q66. How should a bhakt sicerely fulfil his duties?

भक्त निष्ठापूर्वक कर्तव्यों का निर्वाह कैसे करे?

Q67. Importance of Bhakt.

भक्त महत्व|

Q68. Is listening to bhajans, a symbol of coming in bhakti?

क्या भजन सुनना भक्ति में आने का प्रतीक है?

 

2 thoughts on “Bhajan & Sadhna Related Questions

  • Aug 24, 2015 at 6:16 pm
    Permalink

    राधे राधे
    कृपया इ-मेल द्वारा बताए कि श्री ब्रज यात्रा पर जाने के लिए क्या कोई रीती रिवाज़ प्रचलित है?
    क्या यात्रा शुरू करने से पहले नव गृह दर्शन का प्रावधान है?
    pkvmpv1967@gmail.com

    Reply
    • Aug 28, 2015 at 5:08 am
      Permalink

      Radhe Radhe,
      Hum Pooch ke bataenge.
      Jai Radhe..!!

      Reply

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *